एक ऐसा मंदिर जहां भगवान् शिवजी पीते हैं सिगरेट


हम सभी जानते हैं की भगवान् शिव के भक्तो की संख्या करोङो में है और यह भी जानते हैं की शिवजी को भांग की आदत है। इसी वजह से शिवरात्रि के दिन भांग प्रसाद के तौर पर दिया जाता है, पर क्या आप जानते है की भगवान् शिव का एक ऐसा मंदिर है जहां शिवजी को सिगरेट पीते हुए देखा गया है? सुनने में यह कुछ अटपटा लगता है पर वास्तव में यह सच है।

हिमाचल प्रदेश के अर्की सोलन ज़िले में एक लुटरू महादेव मंदिर है, जहाँ भगवान् को फल - फूल के अलावा सिगरेट भी अर्पित की जाती है, और भगवान् शिव भी अपने भक्तों को निराश नहीं करते अपितु उनके द्वारा चढ़ाई गयी सिगरेट को पीते है । दरअसल इस मंदिर में व्याप्त गुफा में शिवलिंग विराजमान है, इस शिवलिंग में जगह-जगह छेद बने हुए हैं, जब जब भक्त सिगरेट का चढ़ावा करके उसे शिवलिंग के छेदों में फसाते हैं तो उसे सुलगाने की ज़रूरत नहीं पड़ती बल्कि वो अपने आप सुलगने लगती है। इसमें से धुंआ भी इस तरह निकलता है जैसे वाकई में कोई सिगरेट पी रहा हो ।
Image: patrika
इस मंदिर में सिगरेट चढाने की प्रथा काफी लम्बे समय से चली आ रही है, कहते है जो इस मंदिर में सिगरेट चढ़ाता है उसकी मनोकामना ज़रूर पूरी होती है ।

यहां के लोगों का यह मानना है की भगवान् शिवजी ने इस गुफा में काफी समय व्यतीत किया था और यही कारण है की शिवलिंग यह अद्भुत कलाप कर पाता है ।

सन १६२१ में बाघल रियासत के राजा ने इस मंदिर का निर्माण कराया था, कहा जाता है राजा के सपने में शिवजी ने आकर उन्हें मंदिर का निर्माण करने का आदेश दिया था जिसके चलते उन्होंने इस मंदिर का निर्माण संपन्न करवाया।

पहाड़ों के बीच स्तिथ इस मंदिर में लोग दूर दूर से दर्शन करने के लिए आते हैं और यहाँ का दृश्य देखकर अपने आप को धन्य मानते हैं ।
Previous Post Next Post