Lake Of No Return: Bermuda Triangle of India

 वो रहस्यमयी झील, जहां जो भी गया कभी वापस नहीं आ सका

अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर और चांगलांग(Changlang) जिले में स्थित, लेक ऑफ़ नो रिटर्न एक जलप्रपात है जो आंशिक रूप म्यांमार की सीमा पर मौजूद एक छोटे से शहर "पानसौ" (Pansau) के क्षेत्र में आता है। आप 'पानसौ पास' (Pansau Pass) से झील को आसानी से देख सकते हैं और यह नम्पिंग गांव से लगभग 12 किमी दूर स्थित है। इस लेक को भारत का बरमूडा ट्रायंगल माना जाता है। यह झील कुछ रहस्यमयी घटनाओं के कारण पूरी दुनिया में कुख्यात है। कहते हैं कि इस झील के पास आज तक जो भी गया, वो कभी लौट कर नहीं आ सका। 
Lake Of  No Return 

Origin of Name for this Lake

माना जाता है की इस झील का नाम "Lake of No Return" क्यों पड़ा, इसके पीछे ३ अलग- अलग कहानियां हैं। उनमें से एक के अनुसार द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान, इस झील में काफी संबद्ध विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गए थे, इस दुर्घटना ने कई लोगों की जान ले ली उसके बाद वो जहाज पायलटों सहित रहस्यमयी तरीके से गायब हो गया था। इस बात को भारतीय प्रेस के साथ-साथ कई अमेरिकी स्रोतों में भी दोहराया गया है।

एक अन्य संस्करण के अनुसार माना जाता  ​​है कि बाद में अमेरिकी सेना के सैनिकों के एक समूह को झील का निरीक्षण करने के लिए इस स्थान पर भेजा गया था। ये सिपाही, जो लेडो रोड पर काम कर रहे थे (जिस सड़क का इस्तेमाल पश्चिमी सहयोगी चीनियों को सप्लाई करने के लिए किया जाता था) जब वे झील में उतरे तो भीतर पानी में मौजूद पौधों के झुरमुठ में फँस गए और डूब गए। हालांकि उन्होंने भागने की कोशिश की थी, पर वे सफल नहीं हो सके थे।

तीसरे सिद्धांत के अनुसार युद्ध के बाद कुछ जापानी सैनिकों का एक काफिला वापस लौट रहा था और वे अपना रास्ता खो गए थे। वो जैसे ही झील के पास पहुंचे, वहां मौजूद रेत में धंस गये और रहस्यमयी तरीके से गायब हो गये और इसलिए इस झील का नाम लेक "Lake of No Return" पड़ा।


इन सिद्धांतों के अलावा, ग्रामीणों के बीच एक लोककथा भी बहुत प्रचलित है। पीढ़ियों से चली आ रही इस कहानी के अनुसार यह माना जाता है कि बहुत पहले, एक ग्रामीण ने एक असाधारण बड़ी मछली पकड़ी थी। एक बूढ़ी औरत और उसकी पोती को छोड़कर पूरे गांव को मछली पर दावत के लिए आमंत्रित किया गया था। इससे नाराज होकर झील के संरक्षक ने दोनों को गांव से दूर भागने की चेतावनी दी और अगले दिन पूरा गांव झील में डूब गया। हालांकि, जाने से पहले, बूढ़ी महिला ने अपने बांस की लकड़ी को झील में उल्टा फेंक दिया, जो ग्रामीणों का मानना ​​है कि आज तक झील के अंदर बढ़ रही है।

यहां अक्सर लोग घूमने के लिए आते रहते हैं, लेकिन झील के अंदर जाने की हिम्मत वो भी नहीं कर पाते हैं। कहते हैं कि इस झील के रहस्य का पता लगाने की काफी कोशिश की गई, लेकिन अब तक नाकामी ही हाथ लगी है। 





Lake Of No Return: Bermuda Triangle of India Lake Of No Return: Bermuda Triangle of India Reviewed by on July 26, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.