TET or CTET के लिए विकास की अवधारणा(concept of development) पर Notes



Notes on Concept Of Development

Development (विकास):
गर्भाधान और मृत्यु के बीच मानव में कुछ परिवर्तन होते हैं, ये परिवर्तन क्रमबद्ध तरीके से प्रकट होते हैं और प्रकृति में अपेक्षाकृत स्थायी बने रहते हैं।
 
Development और Growth के बीच अंतर:

  1. Growth व्यक्ति के भौतिक पहलू में परिवर्तन से संबंधित है जबकि Development उन परिवर्तनों के लिए खड़ा है जो परिपक्वता की ओर ले जाते हैं।
  2. Growth प्रकृति में मात्रात्मक है जबकि Development प्रकृति में गुणात्मक है।
  3. Growth को मापा जा सकता है लेकिन Development का केवल आकलन किया जा सकता है।
  4. Growth, Development का एक हिस्सा है जबकि Development व्यक्ति के Growth में समग्र परिवर्तन से जुड़ा हुआ है।
  5. Development बिना Growth के हो सकता है।
Development के चरण (stages of development):


  1. Prenatal period: जन्म तक
  2. Infancy: 2 सप्ताह के लिए जन्म
  3. Babyhood: 2 सप्ताह से 2 साल तक
  4. Childhood: 2 से 10-12 साल [early childhood 2 से 6 साल] और [later childhood 6 से 12 साल]
  5. पूर्व किशोरावस्था (Pre adolescence): लड़कियां (11 से 13 वर्ष) और लड़के (12 से 14 वर्ष)
  6. किशोरावस्था (Adolescence): 13 से 17 वर्ष
  7. बाद में किशोरावस्था (Later adolescence): 17 से 20 वर्ष
  8. वयस्कता (Adulthood): 21 से 40 वर्ष
  9. मध्य आयु (Middle Age): 40 से 60 वर्ष
  10. वृद्धावस्था (Old Age): 60 बाद

Early childhood, later childhood और Adolescence बच्चे के समग्र विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं।

Early Childhood में development (2 से 6 वर्ष):
प्री-स्कूल या प्ले स्कूल जाने के लिए तैयार, वे आत्म-केंद्रित बन जाते हैं, सामाजिक जीवन में सुधार होता है, इस स्तर पर बहुत उत्सुकता होती है, प्रयोग करना  पसंद करते  हैं, अपने आस-पास के लोगों का निरीक्षण करते हैं, और इस स्तर पर अलग व्यवहार दिखाते हैं।

Later Childhood में development (6 से 12 वर्ष):
प्राथमिक विद्यालय का चरण, साथियों और माता-पिता के साथ अधिक समय समर्पित करते हैं, शैक्षणिक गतिविधियों में शामिल होते हैं, इस चरण का अनुभव उनके बाद के जीवन को प्रभावित करता है, यह चरण विकास प्रक्रिया में बहुत महत्वपूर्ण है।

Adolescence में Development (13 से 19 वर्ष):
विकास का सबसे महत्वपूर्ण चरण, बच्चा सामाजिक जैविक और व्यक्तिगत परिवर्तनों का सामना करता है, नए व्यवहार सीखता है।

Development के प्रकार:


  1. शारीरिक विकास (physical development): ऊंचाई और वजन जैसे शारीरिक पहलुओं से जुड़ा हुआ है।
  2. व्यक्तिगत विकास (personality development): हर व्यक्ति का व्यक्तित्व अलग-अलग होता है और उसके विकास के तरीके भी अलग-अलग होते हैं।
  3. संज्ञानात्मक विकास(cognitive development): सोचने, तर्क करने और विश्लेषण करने की क्षमता में विकास।
  4. सामाजिक विकास(social development): बच्चे के व्यक्तित्व के सामाजिक पहलू का विकास, भावनात्मक विकास
  5. नैतिक विकास(moral development): हमारे दिन प्रतिदिन के संघर्षों का समाधान नैतिक विकास के तहत किया जाता है, हमारे निर्णय नैतिक विकास के तहत विचार करने की क्षमता है।

Development के सिद्धांत:


  1. परिवर्तन का सिद्धांत: विकास परिवर्तन के सिद्धांत का अनुसरण करता है।
  2. प्रारंभिक विकास के महत्व का सिद्धांत: अपने प्रारंभिक विकास में एक बच्चे के अनुभव महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि स्वस्थ अनुभव स्वस्थ विकास की ओर ले जाते हैं जबकि नकारात्मक अनुभव अस्वस्थ विकास की ओर ले जाते हैं।
  3. भविष्यवाणी का सिद्धांत: विकास के सिद्धांत पूर्वानुमेय हैं क्योंकि हम उस विशेष उम्र को जानते हैं जिस पर बच्चे चलना, बोलना आदि सीखेंगे।
  4. आनुवंशिकता और पर्यावरण के बीच बातचीत का सिद्धांत: आनुवंशिकता और पर्यावरण विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आनुवंशिकता विकास पर कुछ सीमाएँ तय करती है जबकि पर्यावरणीय प्रभाव विकासात्मक प्रक्रिया को पूरा करता है।
  5. व्यक्तिगत अंतर का सिद्धांत: विकास की कोई निश्चित दर नहीं है, क्योंकि व्यक्तिगत अंतर के आधार पर विकास होता है। हर व्यक्ति का व्यक्तित्व अलग-अलग होता है और उसके विकास के तरीके भी अलग-अलग होते हैं
  6. अपेक्षाओं का सिद्धांत: विकास के प्रत्येक चरण में बच्चे से कुछ अपेक्षाएँ होती हैं। उदाहरण के लिए, शैशवावस्था के दौरान बच्चे शारीरिक क्रियाओं को नियंत्रित करना सीखते हैं जबकि स्कूल के चरण में वे सहकर्मी समूह के साथ बातचीत करना सीखते हैं।
  7. परिपक्वता और सीखने के सिद्धांत का सिद्धांत: जैविक विकास और विकास को परिपक्वता के रूप में जाना जाता है।
  8. निरंतरता का सिद्धांत: विकास एक सतत प्रक्रिया है जो व्यक्ति के जीवन के साथ ही रूक जाती है।
TET or CTET के लिए विकास की अवधारणा(concept of development) पर Notes TET or CTET के लिए विकास की अवधारणा(concept of development) पर Notes Reviewed by on December 18, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.