TRAI ने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी प्रक्रिया(MNP) को संशोधित किया है। 16 दिसंबर 2019 जारी


टेलिकॉम रेगुलेटरी ऑथेरेटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने संशोधित मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (एमएनपी) (mobile number portability process) प्रक्रिया के लिए सार्वजनिक नोटिस जारी किया है. इससे 16 दिसंबर से पोर्टिंग की प्रक्रिया तेज और आसान हो जाएगी. एमएनपी (MNP) के तहत कोई भी यूज़र अपने ऑपरेटर (mobile operator) को आसानी से बदल सकता है और अपना मोबाइल नंबर एक ही रख सकता है.

नई प्रक्रिया के नियम तय करते हुए ट्राई (TRAI) ने कहा कि अलग अलग शर्तों के पॉज़िटिव अनुमोदन से ही यूपीसी का क्रिएट किया जा सकेगा. उदाहरण के लिए पोस्ट पेड मोबाइल कनेक्शनों के मामले में ग्राहक को अपने बकाया के बारे में संबंधित आपरेटर से प्रमाणन लेना होगा. 

इसके अलावा मौजूदा आपरेटर के नेटवर्क पर उसे कम से कम 90 दिन तक एक्टिव भी रहना होगा. लाइसेंस वाले सेवा क्षेत्रों में यूपीसी चार दिन के लिए वैलिड होगा. वहीं जम्मू-कश्मीर, असम और पूर्वोत्तर सर्किलों में यह 30 दिन तक वैलिड रहेगा.


TRAI ने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी प्रक्रिया(MNP) को संशोधित किया है। 16 दिसंबर 2019 जारी TRAI ने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी प्रक्रिया(MNP) को संशोधित किया है। 16 दिसंबर 2019 जारी Reviewed by on December 12, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.